Movie : Pyar Jhukta Nahi (1985)

Lyrics of Tumhe Apna Saathi Banane

Lyrics in English

Hazaaron Aandhiyaan Aayen
Hazaaron Bijliyaan Chamken
Kabhi
Saathi Ko Tanha
Raah Me
Chhoda Nahi Karte
Tumhe Apna Saathi
Banaane Se Pehle
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hain
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai
Tumhe Apna Saathi
Banaane Se Pehle
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hain
Mohabbat Ki Duniya
Basaane Se Pehle
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai
Tumhe Apna Saathi
Banaane Se Pehle
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai……….
Kahaan Se Main Launga
Resham Ki Saadi
Ye Bangla Ye Motor
Nahin Le Sakunga
Mera Dil Hi Bas Ek
Meri Milkiyat Hai
Jo Chaaho Tau Bas Main
Yahi De Sakunga
Magar Dil Ki Dhadkan
Sunaane Se Pehle
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai
Tumhe Apna Saathi
Banaane Se Pehle
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai……….
Ye Rangeeniyaan
Raahat-E-Zindgi Ki
Ye Rangeeniyaan
Raahat-E-Zindgi Ki
Bahut Kuchh Tumhe
Hans Ke Khona Padega
Kabhi Meri
Gurbat Ne Aansoo Diye Toa
Tumhen Bhi
Mere Saath Rona Padega
Magar Saath Tum Ko
Dilaane Se Pehle
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai
Tumhe Apna Saathi
Banaane Se Pehle
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai……….
Main Darta Hoon Us Din Ki
Rusvaayion Se
Main Darta Hoon Us Din Ki
Rusvaayion Se
Kahin Pyar Par
Apne Duniya Hanse Na
Mohabbat Ka Ho Naam
Badnaam Ham Se
Zamaana Kahin Ham Pe
Taane Kase Na
Sitaaron Ki Mehfil
Sajaane Se Pehle
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai
Tumhe Apna Saathi
Banaane Se Pehle
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai
Meri Jaan Mujh Ko
Bahut Sochna Hai……….
Mohabbat Jinhe
Ho Gyee Ho Kisi Se
Mohabbat Jinhe
Ho Gyee Ho Kisi Se
Mohabbat Ka Anjaam
Kab Sochte Hain
Ye Aisa Suhaana
Safar Hai Ki Jis Me
Hazaaron Hai Nakaam
Kab Sochte Hain
Charaag-E-Wafa Apne
Haathon Me Lekar
Mohabbat Ki Raahon Me
Jo Chal Pade Hain
Bayaanbaan Me Hogi
Ki Sehra Me Hogi
Kahaan Hogi Ab Shaam
Kab Sochte Hain
Kahaan Hogi Ab Shaam
Kab Sochte Hain
Mohabbat Ke Maaron Ko
Ab Aur Ae Dil
Satayengi Kya Sakhatiyaan Zindgi Ki
Jinhe Thak Ke Neend
Aa Gayee Pattharon Par
Wo Duniya Ka Aaram
Kab Sochte Hain
Ye Insaan Kya Hai
Khuda Ke Bhi Aage
Kabhi Pyar Duniya Me
Jhukta Nahin Hai
Pyar Jhukta Nahin Hai
Mohabbat Hi Jin Ko
Khuda Ban Chuki Ho
Kisi Aur Ka Naam
Kab Sochte Hain
Mohabbat Jinhe Ho Gayee Ho Kisi Se
Mohabbat Ka Anjaam
Kab Sochte Hain
Mohabbat Ka Anjaam
Kab Sochte Hain………….

Lyrics in Hindi

हज़ारों आँधियाँ आयें
हज़ारों बिजलियाँ चमकें
कभी
साथी को तन्हा
राह में
छोड़ा नहीं करते
तुम्हे अपना साथी
बनाने से पहले
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
तुम्हे अपना साथी
बनाने से पहले
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
मोहब्बत की दुनिया
बसाने से पहले
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
तुम्हे अपना साथी
बनाने से पहले
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है……….
कहाँ से मैं लाऊँगा
रेशम की साड़ी
ये बांग्ला ये मोटर
नहीं ले सकूँगा
मेरा दिल ही बस एक 
मेरी मिलकियत है
जो चाहो तो बस मैं
यही दे सकूँगा
मगर दिल की धड़कन 
सुनाने से पहले
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
तुम्हे अपना साथी
बनाने से पहले
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है……….
ये रंगीनियाँ
राहत-ए-ज़िंदगी की
ये रंगीनियाँ
राहत-ए-ज़िंदगी की
बहुत कुछ तुम्हे
हँस के खोना पड़ेगा
कभी मेरी
ग़ुरबत ने आँसू दिए तो
तुम्हें भी
मेरे साथ रोना पड़ेगा
मगर साथ तुम को
दिलाने से पहले
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
तुम्हे अपना साथी
बनाने से पहले
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है……….
मैं डरता हूँ उस दिन की
रुस्वायिओं से
मैं डरता हूँ उस दिन की
रुस्वायिओं से
कहीं प्यार पर
अपने दुनिया हँसे ना
मोहब्बत का हो नाम
बदनाम हम से
ज़माना  कहीं हम पे
ताने कसे ना
सितारों की महफ़िल
सजाने से पहले
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
तुम्हे अपना साथी
बनाने से पहले
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना है
मेरी जान मुझ को
बहुत सोचना हैं……….
मोहब्बत जिन्हे
हो गई हो किसी से
मोहब्बत जिन्हे
हो गई हो किसी से
मोहब्बत का अंजाम
कब सोचते है
ये ऐसा सुहाना
सफर है की जिस में
हज़ारों है नाकाम
कब सोचते है
चराग-ए-वफ़ा अपने
हाथों में लेकर
मोहब्बत की राहों में
जो चल पड़े है
बयांबाँ में होगी
की सेहरा में होगी
कहाँ होगी अब शाम
कब सोचते है
कहाँ होगी अब शाम
कब सोचते है
मोहब्बत के मारों को
अब और ऐ दिल
सतायेंगी क्या सख़्तियाँ ज़िंदगी की
जिन्हे थक के नींद
आ गयी पत्थरों पर
वो दुनिया का आराम
कब सोचते है
ये इंसान क्या है
खुदा के भी आगे
कभी प्यार दुनिया में 
झुकता नहीं है
प्यार झुकता नहीं है
मोहब्बत ही जिन को
खुदा बन चुकी हो
किसी और का नाम
कब सोचते हैं
मोहब्बत जिन्हे हो गयी हो किसी से
मोहब्बत का अंजाम
कब सोचते हैं
मोहब्बत का अंजाम
कब सोचते हैं………….

New Songs

Saare Rishte S..

Film: Love420

Mujhe Pyar De..

Film: Love420

Dilli Di Kudi..

Film: Love420

Mera Aaj Nacha..

Film: Angrezi Medium (2020)

Do You Love Me..

Film: Baaghi 3 (2020)

Bhankas: Ek Aa..

Film: Baaghi 3 (2020)

View More